पहले एसएमएस अलर्ट बंद किया फिर 13 किस्तों में खाते से निकाले 52 हजार
Please Share the Post

पीडि़त महिला थाना व बैंक के चक्कर लगाने के बाद पहुंची एसपी आफिस

जिले के हसौद थाना क्षेत्र स्थित एक महिला ग्राहक के खाते से अजीबो गरीब तरीके से 52 हजार रुपए की निकासी करने का मामला सामने आया है। पीडि़त महिला के खाते से जुड़े मोबाइल नंबर पर पहले एसएमएस सेवा को बाधित की गई। उसके बाद 13 किस्तों में उक्त राशि का किसी अन्य खाता में ट्रांसफर किया गया है।
खास बात तो यह है कि पुलिस के साथ बैंक के अधिकारी भी 52 हजार रुपए की इस निकासी के बारेमें कुछ भी समझ नहीं पा रहे हैं। ऐसी स्थिति में बीमारी महिला, अपने बेटे के साथ एसपी कार्यालय पहुंच कर पुलिस के आला अधिकारी से शिकायत की। एसपी ने मामले की जांच कर उचित कार्रवाई करने का भरोसा दिया है।
ना कोई फोन कॉल, ना कोई अंगूठा के निशान। उसके बावजूद एक महिला के खाते से 52 हजार रुपए से अधिक की राशि पार हो गई है। मिली जानकारी के अनुसार यह मामला हसौद थाना क्षेत्र के ग्राम धमनी नरियरा का है। जहां 58 वर्षीय महिला बुधियारिन बाई पति रामसिंह मधुकर का जनधन खाता, एसबीआई के जैजैपुर शाखा है।
वहीं कियोस्क बैंक से महिला अपन लेन-देन करती थी। जिसकी सूचना बकायदा एसएमएस अलर्ट के जरिए महिला के बेटे नरेंद्र मधुकर के पास पहुंचता था। क्योंकि नरेंद्र का नंबर ही उक्त खाता से लिंक कराया गया है। 3 अगस्त 2018 तक उनके खाते में 59 हजार 433 रुपए सुरक्षित थे। पर उसके बाद उनके मोबाइल में रसोई गैस की सब्सिडी व अन्य लेन-देन के मैसेज नहीं आ रहे थे। कुछ तकनीकी खराबी का अनुमान लगा कर संबंधित परिजनों ने भी ध्यान नहीं दिया।
पर कुछ माह बाद जब उक्त खाते से राशि निकालने से पहले बैलेस को चेक किया गया तो संबंधित परिजनों के होश ही उड़ गए। जिस खाते में 59 हजार 433 रुपए थे। उसमें महज 5200 रुपए के करीब राशि शेष बची हुई थी। एसपी नीतू कमल ने मामले की जांच कर पीडि़त परिवार को उचित कार्रवाई का भरोसा दिया है।

 

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *