एक सप्ताह से हाथियों ने अभ्यारण्य क्षेत्र में जमाया डेरा
Please Share the Post

 अपनी फसल बचाने किसानों को करना पड़ रहा रतजगा

जिले के बादलखोल अभ्यारण्य के जंगल में 25 से 30 हाथियों का दल विचरण कर रहा है। वहीं हाथियों के द्वारा किसानों के धान की फसल को भी बर्बाद कर रहे हैं। 25 से 30 हाथियों के दल की मौजूदगी से ग्रामीणों में दहशत है। विकासखंड बगीचा के बादलखोल अभ्यारण्य के जंगल क्षेत्र में इन दिनों 25 से 30 हाथियों के दल ने अपना डेरा जमाया हुआ है। वहीं हाथियों की मौजूदगी से किसान परेशान हो गए हैं और हाथियों से अपनी फसलों को बचाने के लिए अब रतजगा करने को मजबुर हो रहे हैं। इस अल्प वर्षा के कारण किसानों की फसल पहले की बर्बाद हो चूकी हैं। वहीं अब बची हुई फसलों को हाथियों के द्वारा रौद कर बर्बाद कर दिए जाने से ग्रामीणों को और ज्यादा नुकसान उठाना पड़ रहा है। क्षेत्र के सरबकोम्बो, कलिया बुटंगा, गैलूंगा बच्छरांव में कई किसानों के फसल को हाथियों ने रौंद कर बर्बाद कर दिया है। बीते रात करीब 8 बजे सरबकोम्बो के ख्रिस्तोफर तिग्गा, अलबिस तिग्गा के घर के पास एक दंतैल हाथी पंहुच गया और और उनके घर को अपना निशाना बनाते हुए घर को क्षतिग्रस्त कर दिया। हाथी के नुकसान पंहुचाने के दौरान ख्रिस्तोफर के परिवार वाले किसी तरह अपनी जान बचा कर अपने घर से भागे और शोर मचा कर अन्य ग्रामीणों को मौके पर बुला लिया।
फसल को बचाने रतजगा कर रहे किसान: जंगली हाथियों से अपनी साल भर की कमाई को बचाने के लिए क्षेत्र के किसान रात भर जागरण कर रहे हैं। इस वर्ष किसानों की फसल अल्प वर्षा के कारण ऐसे ही कम हुई है और अब बची हुई फसल को हाथियों के द्वारा नुकसान पंहुचाया जा रहा है। वहीं अब किसानों की फसल पक कर तैयार हो गई है ऐसे में क्षेत्र में हाथियों की मौजूदगी के कारण किसानों को अपनी फसल को बचाने के लिए रतजगा करना पड़ रहा है।
विभाग से नहीं दी जा रही हैं सुविधाएं : अभ्यारण क्षेत्र में हाथियों की मौजूदगी होने और वन विभाग की ओर से हाथियों को भगाने के लिए कोई सुविधा प्रदान नहीं किए जाने से क्षेत्र के ग्रामीणों में अब विभाग के प्रति आक्रोश पनपने लगा है। ग्रामीणों का कहना है कि विभाग के द्वारा हाथियों को भगाने के लिए ना तो उन्हें टार्च, जला हुआ मोबिल और ना ही अन्य कोई सुविधा मुहैया कराई गई है। जिसके कारण क्षेत्र में हाथियों के आने से उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ता है।
विभाग को पता नहीं हाथियों की संख्या : वन विभाग के अधिकारियों कर्मचारियों को क्षेत्र में वर्तमान में कितने हाथी विचरण कर रहे हैं उसकी जानकारी नहीं है। क्षेत्र के ग्रामीणों के अनुसार इन दिनों क्षेत्र में 40 हाथी विचरण कर रहे हैं। वहीं विभाग के अनुसार 25 से 30 हाथी ही क्षेत्र में विचरण कर रहे हैं।

ग्रामीणों का कहना है कि वन विभाग के अधिकारी कर्मचारियों के मुख्यालय में नहीं रहने के कारण उन्हें हाथियों की संख्या के संबंध में कोई जानकारी नहीं रहती है।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *