तमिलनाडु में गज ने मचाई भारी तबाही, 35 लोगों की मौत
Please Share the Post

चेन्नई। शक्तिशाली तूफान गज ने तमिलनाडु में भारी तबाही मचाई। अभी तक तूफान जनित घटनाओं में 35 लोगों की मौत हो चुकी है। राज्य के कई जिलों में तूफान से घर और पेड़ तबाह हो गए हैं। तूफान के साथ-साथ भारी बारिश से भी आम-जनजीवन प्रभावित हुआ है। इस तूफान से करीब 1 लाख लोग प्रभावित हुए। बताया जा रहा है कि शुक्रवार को नागपट्टिनम और वेदारण्यम के बीच गज तमिलनाडु के तट से गुजरा। उस वक्त हवा की रफ्तार 120 किलोमाटर प्रति घंटे की थी और साथ ही में भारी मात्रा में बारिश भी हुई।
तमिलनाडु स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि गज चक्रवात में भारी नुकसान हुआ है, नागपट्टिनम में फसलों को और नावों आदि को भारी नुकसान पहुंचा है। हमारे पास चलत कैंप हैं, जिनके जरिए पानी का क्लोरीनेशन किया जा रहा है। 200 से ज्यादा डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ मौजूद हैं।
मौसम विभाग के अनुसार, तूफान के असर से तमिलनाडु और पुडुचेरी के कई जिलों में भारी बारिश हो हुई। तमिलनाडु के तिरुवरुर जिले में सबसे अधिक 17 सेमी और तंजावुर में 16 सेमी वर्षा रिकॉर्ड की गई। जबकि कुड्डालोर जिले में 09 से 12 सेमी और नागपट्टनम जिले में छह सेमी बारिश दर्ज की गई। थोंडी, पमबन, कराईकल और पुडुचेरी में 05 से 10 सेमी तक वर्षा हुई। तूफान अब कमजोर पड़ गया है और डिंडीगुल व थेनी होते हुए केरल में प्रवेश कर गया है।
मृतक आश्रितों को 10-10 लाख की सहायता
तमिलनाडु सरकार ने प्रत्येक मृतक के आश्रित को 10-10 लाख रुपये, गंभीर रूप से घायलों को एक-एक लाख और सामान्य घायलों को 25 हजार रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की है। इसके अलावा तूफान से फसलों, मछली पकडऩे वाली नौकाओं, मकानों और मवेशियों को हुए नुकसान का आकलन करने के निर्देश भी दिए गए हैं।
महामारी का फैलाव रोकने की कवायद
तूफान प्रभावित इलाकों में महामारी फैलने से रोकने के लिए 216 चिकित्सा शिविर लगाए गए हैं। इसके अलावा बिजली के खंभों को बदलने के लिए प्रभावित इलाकों में 7,000 खंभे भी रवाना कर दिए गए हैं।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *