थर्ड जेंडर बन सकेंगे महिला या पुरुष
Please Share the Post

अब जल्द शुरू होगी यहां सर्जरी
दाऊ कल्याण सिंह (डीकेएस) सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल में जल्द ही सेक्स री-एसाइनमेंट सर्जरी (एसआरएस) शुरू होने जा रही है। अस्पताल प्रबंधन ने इसके लिए तमाम तैयारियां पूरी कर ली हैं। एक सर्जरी का खर्च 1.50 लाख रुपए है, जिसके लिए समाज कल्याण विभाग को पत्र लिखा गया है। साथ ही स्वास्थ्य विभाग की स्टेट नोडल एजेंसी (एसएनए) को भी।
बताया जा रहा है कि जब बजट जहां से आ जाएगा, तब सर्जरी की प्रक्रिया आगे बढ़ा दी जाएगी। अस्पताल प्रबंधन से मिली जानकारी के मुताबिक अब तक चार रजिस्ट्रेशन हो चुके हैं। इनमें से चारों ही थर्ड जेंडर्स हैं, जो फीमेल बनना चाहते हैं। सर्जरी की प्लानिंग सर्जरी प्लास्टिक एवं बर्न विभाग के एचओडी डॉ. दक्षेश शाह और उनकी टीम ने कर ली है।
समाज कल्याण विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक प्रदेश में तीन हजार थर्ड जेंडर हैं। इनमें से 150 से अधिक ने सर्जरी की इच्छा जाहिर की है। कंसर्ट फॉर्म भी भरे हैं। मितवा संकल्प समिति एसआरएस सर्जरी के लिए लंबे समय से प्रयासरत है। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने 2014 में सभी राज्यों को थर्ड जेंडर सर्जरी की योजना बनाने के आदेश दिए थे। इसके बाद प्रक्रिया शुरू हुई थी।
होती है लंबी प्रक्रिया
रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद व्यक्ति को काउंसलिंग के साथ-साथ कई सर्जरी से गुजरना होता है, तब जाकर संबंधित व्यक्ति मेल या फीमेल बन पाता है। ये पूरा प्रोसेस एक साल का होता है। इसमें पहले महीने में काउंसलिंग और स्क्रीनिंग होती है। उसे मानसिक रूप से कोई बीमारी तो नहीं है, इसे लेकर संतुष्ट हो जाने के बाद हार्मोन थेरेपी से गुजरना होता है। लेजर ट्रीटमेंट और ऑपरेशन किया जाता है और अंत में ब्रेस्ट इंप्लांट की प्रक्रिया होती है।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *