चुनाव कार्य में आए शिक्षकों की चोरी हुई दो पल्सर बाईक बरामद
Please Share the Post

चोरी की दो पल्सर बाईक के पार्टस-पार्टस खोलकर बेच रहे थे आरोपी

चुनाव ड्यूटी करने जिला मुख्यालय जशपुर आए दो शिक्षकों के बाईक को चोरी करने वाले आरोपियों को क्राईम ब्रांच और सिटी कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। आरोपी बाईक की चोरी कर उसके अलग-अलग पाट्र्स को बेचने के फिराक में थे। पुलिस ने गिरोह के तीन आरोपी को गिरफ्तार करते हुए 2 आपचारी बालकों को अपने संरक्षण में लिया है। इस संबंध में जानकारी देते हुए सिटी कोतवाली प्रभारी डीपी सिंह ने बताया कि 19 नवंबर को चुनाव ड्यूटी में भाग लेने के लिए नारायणपुर थाना क्षेत्र के अमृत तिग्गा (53) अपनी पल्सर मोटर सायकल क्रमांक सीजी 13 एक्स 8962 एवं कुनकुरी थाना क्षेत्र के रमेते रोड़ निवासी संदीप मिंज (38) अपनी पल्सर मोटर सायकल क्रमांक सीजी 14 एमएफ 0212 में जशपुर आए थे। दोनो कर्मचारी अपने बाईक को जशपुर क्लब के पास खड़ी कर अपने-अपने ड्यूटी में चले गए थे। दोनो कर्मचारियों के द्वारा अपनी ड्यूटी कर वापस लौटे तो दोनो की मोटर सायकल को अज्ञात चोरो ने चोरी कर ली थी। दोनो कर्मचारियों की मोटर सायकल चोरी हो जाने पर सिटी कोतवाली में अज्ञात चोरो के खिलाफ मोटर सायकल चोरी हो जाने की रिपोर्ट दर्ज करा दी थी। पुलिस ने दोनो कर्मचारियों के रिपोर्ट पर अज्ञात चोरो के खिलाफ धारा 379 का मामला दर्ज कर अज्ञात चोरो की पतासाजी करना शुरु कर दी थी।
बाइक को खोलकर बेच रहे थे पाट्र्स : दोनो शिक्षकों के द्वारा मोटर सायकल चोरी होने की रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद अज्ञात चोरो की पतासाजी में क्राईम ब्रांच और सिटी कोतवाली की पुलिस लगी हुई थी। उसी दौरान पुलिस को सूचना मिली की एक युवक मोटर सायकल बेचने के फिराक में घूम रहा है। सूचना पर पुलिस की टीम ने घूम रहे शिवम गुप्ता उर्फ आशु पिता ओमप्रकाश गुप्ता(21) को अपने हिरासत में लेकर उससे पूछताछ करना शुरु कर दिया। शिवम से पूछताछ करने पर उसने पुलिस को बताया कि वह चोरी की गई बाईक को लेकर बेचने के लिए घूम रहा था। शिवम ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि उसके साथ दीपक यादव पिता बंधु यादव (21), विक्की एवं 2 आपचारी बालक भी शामिल हैं। पुलिस ने उसके पूछताछ के आधार पर अन्य आरोपियों को भी अपने हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की तो आरोपियों ने दोनो मोटर सायकल को चोरी करने की बात स्वीकारते हुए बताया कि वे एक बाईक का खोलकर उसके अलग-अलग पाट्र्स को बेचने के चक्कर में थे।

जिस बाईक का पाट्र्स उनके द्वारा निकाला गया था उस बाईक को वे डौड़काचौरा के जंगल में छिपा कर रखे हुए थे। वहीं एक बाईक को एक आपचारी बालक को रखने के लिए दे दिया गया था। पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर दोनो बाईक को बरामद करते हुए तीनों आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए दो आपचारी बालको को संरक्षण में ले लिया है।
नशे की लत के कारण करते थे चोरी : सिटी कोतवाली प्रभारी डीपी सिंह ने बताया कि मोटर सायकल चोरी करने में संलप्ति आरोपियों का कोई पुराना आपराधिक रिकार्ड नहीं है और ना ही इनके द्वारा पूर्व में किसी प्रकार की चोरी की घटना को अंजाम दी गई। इन आरोपियों को नशा करने की आदत है और ये गांजा और शराब सेवन करने के आदि हो गए हैं और नशे और अपने जेब खर्च के लिए इनके द्वारा चोरी की वारदात को अंजाम दिया था।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *