शिव सेना ने मनाया आस्था दिवस
Please Share the Post

 राम मंदिर निर्माण की मांग को लेकर राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन

अयोध्या में राम मंदिर के उपर बने मस्जिदनुमा ढांचा को गिराये जाने की तिथी 6 दिसंबर को शिव सेना ने आस्था दिवस के रूप में मनाया। वहीं मंदिर निर्माण की मांग को लेकर शहीद चौक में प्रदर्शन करते हुए जमकर नारेबाजी की गई तथा मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश लाने की मांग को लेकर राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा गया। शिव सेना द्वारा प्रदेश उपाध्यक्ष राजेश जैन के नेतृत्व में शहीद चौक पर अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की मांग को लेकर प्रदर्शन करते हुए आज के दिन को आस्था दिवस के रूप में मनाया गया। शिव सैनिकों ने पहले मंदिर फिर सरकार के नारे लगाते राम मंदिर निर्माण के लिए प्रदर्शन किया। इसके साथ ही राम मंदिर निर्माण के लिए संसद के इसी सत्र में अध्यादेश लाने के लिए राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। कलेक्टर के प्रतिनिधि के रूप में नायब तहसीलदार शशांक शेखर शुक्ला ने शहीद चौक पंहुच कर ज्ञापन लिया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को दिये गये ज्ञापन में कहा गया है कि भाजपा ने पिछले चुनाव के दौरन भीराम मंदिर निर्माण कराने का वादा किया था जिस पर विश्वास कर जनता ने न केवल केन्द्र में बल्कि उत्तर प्रदेश में भी भाजपा को बहुमत दिया, बावजूद इसके आज पर्यन्त केन्द्र सरकार द्वारा राम मंदिर निर्माण के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया जाना जनता के साथा धोखा है। एसटीएससी एक्ट के लिए संसद में अध्यादेश लाया जा सकता है तो राम मंदिर के लिए क्यों नहीं? संसद के शतकालीन सत्र में अध्यादेश ला कर राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त करने की शिव सेना ने मांग की है। वहीं प्रत्येक वर्ष 6 दिसंबर को आस्था दिवस मनाये जाने की घोषणा शिव सेना द्वारा की गई है। आस्था दिवस कार्यक्रम में राम सिंह चौहान, विमल महंत, उमेश श्रीवास, विजय लकड़ा, विजय महंत, सुरेशदास मानिकपुरी, अनादी गुप्ता, रिक्की विश्वास, अंकित सराफ, टूरन कौशिक, अशोक मेश्राम,गोलू श्रीवास सहित भारी संख्या में शिव सेना एवं युवा सेना उपस्थित थे।
के शिव सैनिक उपस्थित थे।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *