ओडि़सा की बेटी कमला कर रही छत्तीसगढ़ के ग्राम पंचायत का विकास
Please Share the Post

ओडिसा के झारसुगुड़ा की बेटी छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले में स्थित बेलरिया ग्राम पंचायत का लगातार विकास कर रही है। कमला सिदार इस ग्राम पंचायत की सरपंच हैं। इन्होंने अपने पति महेन्द्र सिदार के साथ मिलकर पूरे ग्राम पंचायत क्षेत्र के विकास का बीड़ा उठाया है। उनके इस कार्य में गावं के सभी पंच और सचिव भास्करी बारिक का बराबर सहयोग मिल रहा है। कमला सिदार बेलरिया ग्राम पंचायत के डूमरपाली की निवासी हैं। इनके दो पुत्र क्रमश: जिगेश्वर सिदार १२ वर्ष एवं ओम प्रकाश ९ वर्ष हैं। सन २००५ में इनका विवाह डूमरपाली के महेन्द्र सिदार से हुआ। और इसके बाद इन्होंने सयुंक्त रूप से अपने क्षेत्र के विकास का सपना देखा। मन में कुछ कर गुजरने की तमन्ना देखकर ग्रामीणों ने कमला को अपना सरपंच चुना। और यहां से उनकी सफलता की कहानी शुरू हुई। कमला सिदार २०१५ से बेलरिया ग्राम पंचायत की सरपंच हैं। खेती किसानी इनका मुख्य पारिवारिक व्यवसाय है। भाजपा से इनका राजनैतिक जुड़ाव रहा है। इन्होंने सरपंच बनने के बाद ओडीएफ, प्रधानमंत्री आवास और शतप्रतिशत बृद्धा पेंशन की राशि हितग्राहियों को दिलाने में सफल रही हैं। इस ग्राम पंचायत में सरंपच कमला ने गांव के मूलभूत सुविधाओं को तो मुहैया कराया ही है साथ ही सरकार की सबसे बड़ी योजना ओडीएफ और प्रधानमंत्री आवास पर खासतौर पर ध्यान केन्द्रित करते हुए अपना परिश्रम झोंक दिया है। इस ग्राम पंचायत में ३०५ ओडीएफ और १३५ प्रधानमंत्री आवास का कार्य हुआ है। खैरमुड़ा में तालाब गहरीकरण का कार्य कराने से ग्रामीणों को निस्तारी की समस्या से निजात मिली है। इसी प्रकार ५ लाख रूपये की लागत से १०० मीटर का सीसी रोड निर्माण, ४ लाख ५९ हजार की लागत से ग्राम डूमरपाली में मुक्तिधाम का निर्माण, ३ पानी टंकी ६० -६० हजार की लागत से बनवाये गये हैं। और ग्राम पंचायत में आवश्यकता के अनुसार बोर खनन के कार्य भी हुए हैं। ओडिसा की इस बेटी को अपने ग्राम पंचायत में विकास कार्य करता देख ग्रामीण फूले नहीं समाते हैं। अब तक गांव में जो भी मूलभूत सुविधाओं की आवश्यकता थी उन्हें प्राथमिकता में रखते हुए सरपंच कमला ने अपने सचिव के सहयोग से पूरा किया है। सरपंच कमला ने किरण दूत से चर्चा करते हुए बताया कि जनपद पंचायत की ओर से उन्हें न केवल शासन की योजनाओं को भलिभांति समझाया जाता है। बल्कि इन योजनाओं का लाभ किस प्रकार से ग्रामीणों को मिल सकता है। उसकी कागजी कार्यवाही में सीईओ आशीष देवांगन का हमेशा मार्गदर्शन प्राप्त होता रहता है। यही कारण है कि अपने अब तक के कार्यकाल में गांव का काफी विकास कर सके हैं। सरपंच कमला की इच्छा है कि उनके ग्राम पंचायत बेलरिया में स्थित स्कूल की बाउंड्रीवाल हो जाये और बेलरिया और डूमरपाली के बीच एक छोटा पुल बन जाय ताकि बर्षात के दिनों में आवागमन बाधित न हो। उन्हें उम्मीद है कि इन दोनों कार्या के लिए शीघ्र ही मंजूरी मिल जायेगी।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *