शिक्षाकर्मियों के मुद्दे पर विभाग सुस्त, अबतक नहीं पहुंचे रायगढ़ सहित तीन जिलों के आंकेड़े
Please Share the Post

रायपुर। सूबे में सरकार भले ही बदल गयी हो, लेकिन प्रदेश की लालफीताशाही नहीं बदली है। आलम ये है कि मंत्रालय से जारी अतिआवश्यक पत्रों को भी अफसर गंभीरता से नहीं लेते। मामला पंचायत विभाग के शिक्षाकर्मियों से जुड़ा है। जहां चार जिलों में शिक्षाकर्मियों के एक आंकड़े मांगने के लिए सरकार को तीन-तीन बार पत्र लिखना पड़ रहा है। दरअसल राज्य सरकार अपने घोषणा पत्र के वादों के अनुरूप शिक्षाकर्मियों को संविलियन करने जा रही है। लिहाजा सभी जिला पंचायत सीईओ को 24 दिसंबर को पत्र जारी कर उनसे 2 साल की परीवीक्षा अवधि पूरा कर चुके शिक्षाकर्मियों के आंकड़े मंगाये गये थे। लेकिन रायगढ़, मुंगेली, कांकेर और बस्तर के जिला पंचायत सीईओ की तरफ से आंकड़े नहीं दिये गये।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *