विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया (Team India) ने विदेशी धरती पर रचा इतिहास
Please Share the Post

टीम विराट ने सिडनी में सोमवार को समाप्त हुए चौथे टेस्ट मैच के पांचवें और आखिरी दिन इतिहास रचते हुए मेजबान ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की सीरीज पर 2-1 से कब्जा कर लिया. चौथे दिन का पूरा खेल बारिश से धुल गया. इस दौरान एक भी गेंद नहीं फेंकी जा सकी. और दूसरे सेशन के आखिर में मैच अधिकारियों ने ग्राउंड स्टॉफ से चर्चा करने के बाद दिन के खेल को रद्द करने का ऐलान किया और मैच ड्रॉ में तब्दील हो गया. इसी के साथ ही विराट के वीरों ने 71 साल बाद इतिहास रचते हुए ऑस्ट्रेलिया धरती पर सीरीज जीत दर्ज करने वाली पहली एशियाई टीम बनने का गौरव हासिल कर लिया. सीरीज में चार मैचों में तीन शतक सहित सब से ज्यादा रन बनाने वाले चेतेश्वर पुजारा को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया. मैच के आखिरी दिन करोड़ों भारतीय क्रिकेटप्रेमी उम्मीद कर रहे थे कि भारत इस टेस्ट में भी जीत दर्ज करते हुए सीरीज में 3-1 से जीत दर्ज करेगा. लेकिन बारिश ने मौसम विभाग की भविष्यवाणी को धता बताते हुए इस सपने पर पानी फेर दिया. सुबह मैच की शुरुआत के समय ही क्रिकेटप्रेमियों के लिए तेज मूसलाधार बारिश के रूप में निराशाजनक खबर आई. इसके बाद लंच के बाद एक हल्की उम्मीद बंधी कि आखिरी दो सेशन का खेल देखने को मिल सकता है, लेकिन जब बारिश का लगातार बरसना जारी रहा, तो मैच अधिकारियों ने दिन का खेल रद्द करने का फैसला किया. इसी के साथ मैच ड्रॉ हो गया. ऑस्ट्रेलिया 3-1 की और बड़ी शर्मिंदगी से बच गया. और भारतीय टीम को 2-1 के परिणाम के साथ संतोष करना पड़ा. बारिश और खराब मौसम ने मैच के चौथे दिन भी करीब साढ़े तीन घंटे का खेल बर्बाद किया था. इससे पहले भारत ने चौथे टेस्ट मैच में चेतेश्वर पुजारा (193) और ऋषभ पंत (159) की शतकीय पारियों के दम पर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपनी पहली पारी सात विकेट के नुकसान पर 622 रनों के विशाल स्कोर पर घोषित कर दी थी. इस पारी में ऑस्ट्रेलिया के लिए नाथन लॉयन ने सबसे अधिक चार, जोश हेजलवुड ने दो और मिशेल स्टॉर्क को एक विकेट मिला. इसके बाद, भारत ने कुलदीप यादव (5/99) की शानदार गेंदबाजी के दम पर ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी 300 रनों पर समाप्त कर दी. इस पारी में मोहम्मद शमी और रवींद्र जडेजा ने दो-दो विकेट लिए, वहीं जसप्रीत बुमराह को एक सफलता हाथ लगी. ऑस्ट्रेलिया के लिए पहली पारी में मार्कस हैरिस (79) ने सबसे अधिक रन बनाए. उनके अलावा, मार्नस लाबुशाने ने 38 और पीटर हैंड्सकॉम्ब ने 37 रनों का योगदान दिया. इस पारी में भारत ने  322 रनों की बहुत ही मजबूत बढ़त हासिल की थी. इसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने फॉलोऑन खेलते हुए चौथे दिन अपनी दूसरी पारी में बिना कोई विकेट गंवाए छह रन बनाए थे. यहां से नाबाद बल्लेबाज उस्मान ख्वाजा (4) और हैरिस को बारिश ने आगे बैटिंग का मौका नहीं ही दिया. बारिश के कारण पांचवें दिन का मैच रद्द कर दिया गया. भारत पहली एशियाई टीम है, जिसने ऑस्ट्रेलिया में खेली गई टेस्ट सीरीज में जीत हासिल की है. भारत से पहले  इंग्लैंड, वेस्टइंडीज, न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका ने कंगारुओं को उन्हीं की धरती पर मात दी थी, लेकिन टीम विराट से पहले कोई भी एशियाई टीम इस कारनामे को अंजाम नहीं दे सकी थी.  भारत अब पांचवीं टीम है, जिसने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में जीत हासिल की है. सिडनी में ड्रॉ छूटे मुकाबले के साथ भले ही भारत को 2-1 की स्कोरलाइन के साथ संतोष करना पड़ा, लेकिन इस मैच में भी टीम इंडिया ने चौथे दिन ही कंगारुओं पर कलंक लगा दिया था. ऑस्ट्रेलिया को 31 साल बाद अपने घर में किसी टीम के खिलाफ फॉलोऑन खेलने पर मजबूर होना पड़ा.  पिछली बार 1988 में ऑस्ट्रेलिया को इंग्लैंड ने इसी मैदान पर फॉलोऑन दिया था. इसके अलावा, 1986 के बाद पहली बार भारत ने आस्ट्रेलिया को फॉलोऑन दिया है। इससे पहले, 1986 में सिडनी में नववर्ष के मौके पर खेले गए मैच में भारत ने आस्ट्रेलिया को फॉलोऑन दिया था.  सीरीज में लगातार बल्ले से झमाझम रन बरसाने वाले चेतेश्वर पुजारा ‘मैन ऑफ द मैच’ चुने गए.

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *