क्रशरों के धूल डस्ट से ग्रामीणों का गुस्सा सातवें आसमान पर
Please Share the Post

जिले में क्रेसरओं के चलते ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ती जा रही है परेशानियो का बाढ बतादें शक्ति विधानसभा क्षेत्र के ग्राम पंचायत बेलाचूआ में आज लोगों का जाना दुश्वार हो गया वही क्रेशरओं के मालिकों द्वारा परेशानियों को नजर अंदाज़ कर दिया जाता है क्षेत्र मे लगे क्रेशर के आसपास के गांव के रोडो मैं बढ़ती जा रही परेशानियां क्रेसर वाले गाडियों के चलने से रोड पुरी तरह से जर्रजर हो चला है जिसके चलते बडी दुर्घटना की घंटी हमेशा बजता रहता है
वही आए दिन क्रेशर लगे गांव में बीमारियां बढ़ती जा रही है बच्चे से बुजुर्गो मे सर्दी खाशी कि बिमारी धुल डस्ट के कारण बढती जा रही है इतना ही नही किसानों कि कडी मेहनतो का खेती फसलों में विभिन्न प्रकार की बीमारियां लग जाती है जिसके कारण किसानों की माली हालत होते जा रहे है वही डस्ट से बच्चे सुबह से शाम तक गिरे रहते हैं जिससे विभिन्न प्रकार की बीमारियों ने जड़ कर रखी है ग्रामीणों का कहना है बार-बार हम लोग प्रशासन को अवगत कराकर ध्यान केंद्रित करने का कोशिश भी की है ग्राम पंचायत के सरपंच द्वारा पंचों द्वारा कई बार इस बारे में अधिकारियों को अवगत कराने के बावजूद भी क्रेशर मालिकों को दबाव ना बनाया गया जिसकी वजह से आज गांव वालों की जीना दूभर हो चुका है इस समस्या को देखते हुए आज हमारे संवाददाता ने ग्रामीणों के पास जाकर उनकी समस्याओं को जानकारी लेते हुए ग्रामीणों की दर्द भरी आवाज से क्रेशर का दुखड़ा सुनाया गया तीनों क्रेशर मालिकों की मनमानी देखने को मिली विगत 15 वर्षों से क्रेसर संचालित कर रहे हैं लाखों-करोड़ों की आमदनी करने के बावजूद भी ग्रामीणों को सुविधा से वंचित किया जा रहा है कम से कम आश्रित ग्रामों को तो स्वास्थ्य परीक्षण बच्चों की शिक्षा की उचित व्यवस्था क्रेशर मालिकों द्वारा की जानी चाहिए अब देखते हैं आगे शासन प्रशासन इस ओर ध्यान क्या देती है। संचालित हैं आश्रित ग्राम जगदल्ली बेलाचूवा डगवोरा यह तीनों ग्राम पंचायत के आश्रित में आते हैं।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *