जय सिंह और गणेश तालाब में मछली पालन को मिली मंजूरी
Please Share the Post

महापौर ने नए साल में बुलाई एमआईसी बैठक

शहर के दो सबसे खूबसूरत तालाब माने जाने वाले जय सिंह तालाब और गणेश तालाब में मछली पालन के लिए मंजूरी दे दी गई है. गुरूवार को नगर निगम में महापौर की नए साल में बुलाई गई एमआईसी बैठक में तालाब को दस साल के पट्टे पर दिए जाने के लिए मंजूरी प्रदान की गई है. हालांकि बैठक के दौरान ऑडिटोरियम का नामकरण पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर किए जाने को लेकर एमआईसी सदस्यों के बीच आपसी सहमति नहीं बन सकी.
2019 के पहले एमआईसी बैठक के लिए कुल 13 प्रस्ताव रखे गए थे, जिसमें लगभग 60 लाख रूपए के अलग अलग मोहल्लों में सड़क निर्माण कार्य के लिए मंजूरी प्रदान की गई, इसके अलावा नए पेंशनधारियों, आंगनबाड़ी कार्यक र्ताओं की नियुक्ति सहित निगम के सफाईकर्मियों के लिए राशि का निर्धारण किया गया।
तालाब का पट्टा मंजूर
नगर निगम से पहली बार जय सिंह तालाब और गणेश तालाब को मछली पालन के लिए पटटे पर दिए जाने को स्वीकृति प्रदान की गई है. हालांकि इससे निगम को किसी प्रकार का लाभ नहीं होगा, बताया गया कि शासन की मत्स्य पालन निति के तहत बेहद निम्न दर पर पट्टे को मंजूरी दी गई है, अब इसे मत्स्य विभाग और कलेक्टर के पास अनुमोदन के लिए भेजा जाएगा.
नामकरण पर नहीं बनी बात
एमआईसी में भाजपा की तरफ से पंजरी प्लांट में बन रहे ऑडिटोरियम, रायगढ़ स्टेडियम में बने वाचनालय और केवड़ाबाड़ी बस स्टेंड के पास बने सामुदायिक भवन को पूर्व प्रधानमंत्री स्व. एबी वाजपेयी के नाम पर किए जाने का प्रस्ताव दिया गया था, जिस पर सहमति नहीं बन सकी, माना जा रहा है अब इस पर निर्णय निगम के सामान्य सभा में
किया जाएगा।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *