सिखों के दसवें गुरु गोबिंद सिंह के जन्मस्थल पटना में तख्त हरिमंदिर पटना साहिब से प्रभात फेरी निकाली गई
Please Share the Post

सिखों के दसवें गुरु गोबिंद सिंह के जन्मस्थल पटना में तख्त हरिमंदिर पटना साहिब से प्रभात फेरी निकाली गई. गुरु गोबिंद सिंह की यह 352वीं जयंती है. पंच प्यारे की अगुआई में निकली इस प्रभात फेरी में ‘जो बोले सो निहाल’ के नारों से पूरा माहौल भक्तिमय हो गया. हाथी, घोड़ों व बैंडबाजों के साथ निकली इस प्रभात फेरी में हजारों सिख श्रद्धालु और संगतों ने हिस्सा लिया. पंच प्यारे दशमेश गुरु का गुणगाण करते हुए पटना सिटी के कई रास्तों से गुजरे. प्रभात फेरी में ‘जो बोले सो निहाल’, ‘सत श्री अकाल’ ‘वाहे-वाहे गुरु गोविंद सिंहजी’, ‘आपे गुरु चेला’ आदि नारे गूंजते रहे. सुबह गुरुघर से निकली प्रभातफेरी नगर भ्रमण के बाद हरिमंदिर गली होते हुए तख्त श्री हरिमंदिर साहिब लौटी. यहां मुंबई, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, कोलकाता, झारखंड से बड़ी संख्या में सिख श्रद्धालु यहां पहुंचे. इसके पहले भी देश के विभिन्न भागों से यहां श्रद्धालु पहुंच चुके हैं. श्रद्धालुओं को तख्त श्री हरिमंदिर परिसर में बने कमरों के अलावा आसपास के विद्यालयों और टेंटसिटी के कमरों में भी ठहराया जा रहा है. प्रकाशोत्सव समारोह का 13 जनवरी को समापन होगा. तख्त साहिब पहुंचे बाहरी संगत गुरु का बाग, कंगन घाट, सोनार टोली गुरुद्वारा, बड़ी संगत गायघाट, बाल लीला मैनी संगत गुरुद्वारा मत्था टेक रहे हैं. इसके साथ ही पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि ने पानी के जहाज का शुभारंभ किया जो आए श्रद्धालुओं को नौकाविहार कराएगी. 352वें प्रकाश पर्व पर श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए जहाज सेवा शुरू की गई है. यह सेवा 14 जनवरी तक जारी रहेगी. पानी का जहाज कंगन घाट से गाय घाट तक चलाया जाएगा. तख्त हरिमंदिर पटना साहिब प्रबंधक समिति के महेंद्र सिंह पाल ढिल्लन ने बताया कि प्रभातफेरी में काफी संख्या में देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं ने हिस्सा लिया. उन्होंने बताया कि 12 जनवरी को गायघाट से नगर कीर्तन निकाला जाएगा तथा गाय घाट स्थित बड़ा गुरुद्वारा में सुबह दीवान (सभा) सजेगा.

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *