लोगों को पालिका की दुकानों का किराया और स्थानीय कर चुकाने में नहीं है रुचि
Please Share the Post

शहर के चार बकायादारों पर ही 8 लाख 38 हजार 556 रुपए हैं बकाया
नगरपालिका को कर पटाने में लोगों के द्वारा कोई खास रुची नहीं दिखाई जा रहा है। लोगों के द्वारा नगरपालिका को कर का भुगतान नहीं करने के कारण नगरपालिका को बकायादारों से 1 करोड़ 53 लाख रुपए की किराए और करों की वसूली करनी है। वसूली की इतनी बड़ी राशि को देखते हुए जशपुर नगरपालिका अब विभिन्न करों का भुगतान लंबे समय से नहीं करने व बार-बार नोटिस देने के बाद भी भुगतान करने में चूक करने पर सख्त रवैया अपना रहा है। शुरुआती दौर में नगरपालिका 4 बड़े बकायादारों का प्रकरण बनाकर कोर्ट में प्रस्तुत कर दिया है। वहीं 9 लोगों को नोटिस जारी किया जा रहा है, जिससे ऐसे बकायादारों में हड़कंप मच गया है।
जशपुर नगरपालिका शहरवासियों से जलकर, समेकित कर, मकान कर, संपती कर, दुकान किराया आदि मदों से आय प्राप्त करती है। शहर के कई लोग ऐसे हैं जो करों का भुगतान समय पर नहीं करते हैं। कर की राशि जब काफी ज्यादा बढ़ जाती है तो करदाताओं को रकम मोटी लगने लगती है और वे कर देने में आनाकानी करते हैं। नगरपालिका को कर वसूली के लिए कई अधिकार प्राप्त हैं। कर की वसूली के लिए नगरपालिका न्यायालय के आदेश पर संपत्ति जब्त तक कर सकती है। वहीं अपने ऊपर आने वाले इन मुसीबतों से अंजान लोग कर भुगतान को लेकर गंभीर नहीं होते हैं। वहीं कर वसूली के लिए जिम्मेदार कर्मचारी भी कई बार सख्ती नहीं बरतते हैं। जिस कारण वसूली की राशि बढ़ जाती है और नगर पालिका के पास फंड की कमी होने लगती है। शहर के लोग समय पर नगरपालिका में टैक्स का भुगतान नहीं कर रहे हैं। जिसे देखते हुए अब नगरपालिका ने वसूली के लिए सख्त रवैया अपनाना शुरु कर दिया है। नगर पालिका सीएमओ जितेंद्र कुशवाहा ने बताया कि बार-बार नोटिस देने के बाद भी भुगतान नहीं करने वालों पर अब सख्त कार्रवाई की जा रही है। जिसकी शुरुआत में चार बड़े बकायादारों के खिलाफ प्रकरण बनाकर कोर्ट में पेश किया गया है। केवल इन चार बकायादारों पर ही 8 लाख 38 हजार 556 रुपए बकाया हैं। अब न्यायालय के आदेश पर इनकी संपत्ति भी कुर्क की जा सकती है।
मात्र 62 लाख रुपए की हुई है वसूली
पालिका का मैदानी अमला इन दिनों कर वसूली के काम में लगा हुआ है और लोगों के पास पंहुच कर कर की वसूली कर रहा है। वहीं लंबे समय से जिन लोगों ने कर का भुगतान नहीं किया है उन्हें अब लिगल नोटिस भी थमाया जा रहा है। जशपुर नगरपालिका को कुल 1 करोड़ 95 लाख रुपए की वसूली करनी है।

जिसमें से पालिका मात्र 62 लाख रुपए ही वसूल पाई है। वहीं पालिका को 192 दूकानदारों से 41 लाख रुपए की वसूली करनी है जिसमें मात्र 12 लाख की वसूली हो पाई है।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *