पत्रकार पर जानलेवा हमला मामले में अब तक आधी-अधूरी कार्रवाई, कुछ पकड़े गए तो कुछ को पकडऩे की कोशिश नहीं हुई
Please Share the Post

सफेदपोश बाहर और उनके गैंग को आज अंदर बता सकती है पुलिस

पिछले दिनों डभरा के एक पत्रकार पर जानलेवा हमला मामले में सप्ताह भर बाद भी पुलिस के हाथ आरोपी नहीं लग सके थे।
कारण साफ है कि इस पूरे मामले के लीड रोल में कुछ सफेदपोश हैं। लेकिन अब इस मामले में बढ़ते दबाव को देखते हुए भूपदेवपुर पुलिस ने सफेदपोश दो आरोपियों को छोड़कर उनकी टीम को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि खरसिया ब्लाक के गीधा से २ बरभौना से ४ और पामगढ़ से २ आरोपियों की गिरफ्तारी की गई है।
टिकेश डनसेना के चचेरे भाई पिताम्बर डनसेना को भी पकडऩे की बात सामने आ रही है।
इसके अलावा कुछ अन्य आरोपियों की तलाश भी की जा रही है। पुलिस की ओर से आरोपियों के ठिकानों पर दबिश दी जा रही है लेकिन यह इतने लेट से हो रहा है कि आरोपी अपना सुरक्षित ठिकाना ढूंढ चुके हैं।

घटना में प्रयुक्त एक स्कार्पियो भी जब्त
पत्रकार के हत्या के प्रयास मामले में प्रयुक्त स्कार्पियो सीजी -१३ यूसी ५२०० को भी जप्त कर लिए जाने की बात भी सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि यह स्कार्पियो रानी सागर निवासी दौलत पटेल की है। लेकिन १५ मई को उसने अपने इस वाहन को बिक्री इकरारनामा बनाकर पचास रुपए के स्टाम्प में पामगढ़ निवासी मनहरण पटेल को बेच दिया था। लेकिन इस गाड़ी का नामांतरण अब तक नहीं हो सका था। इस गाड़ी का उपयोग मनहरण का बेटा आनंद पटेल करता था। जो जानकारी सामने आ रही है उसके अनुसार घटना के दिन भी आनंद पटेल ने इसी गाड़ी में आरोपियों को बैठाकर घटना को अंजाम दिया था।
मुख्य आरोपी गिरफ्त से बाहर, इन्हें आरोपी बनाया भी जाएगा या नहीं?
इस घटना के मुख्य आरोपी टिकेश डनसेना तक पुलिस अब तक नहीं पहुंच सकी है। वहीं एक राजनैतिक दल से ताल्लुक रखने वाले नेता जिनका टिकेश के लकड़ी तस्करी से संबंध बताए जाते हैं उनका भी अता-पता नहीं चल रहा है। इस नेता के लड़के का भिलाई की लड़की से प्रेम संबंध था और शादी करने का झांसा देकर उससे शादी न कर कहीं और ब्याह रचाने की बात से भिलाई में प्रेमिका ने खुदकुशी कर ली थी। जिसकी जानकारी पीडि़त पत्रकार के पास थी। यह जानकारी सार्वजनिक न हो जाए और नेता जी और उनके बेटे पर कोई संकट न आए इस कारण भी इस पूरे घटनाक्रम की भूमिका के पीछे वजह बताई जा रही है। यह भी बताया जा रहा है कि पीडि़त पत्रकार का प्रेम संबंध पूर्व में जिस लड़की से था उसकी शादी इस घटना में शामिल एक आरोपी से हो गई थी। लेकिन पत्रकार की ओर से यह बात भी उछाले जाने का भय आरोपियों को था। इसलिए भी इस घटना की साजिश रची गई।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *