यज्ञ में आहुति के साथ हुआ शिविर का समापन
Please Share the Post

 कलेक्टर ओपी चौधरी की माता के मुख्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ कार्यक्रम

पंद्रह दिनों से बच्चो का योग प्रशिक्षण 20 मई को यज्ञ में आहुति के साथ समाप्त हुआ । इस दौरान बच्चो के पालक भी मौजुद रहे । वैदिक मंत्रोच्चार के साथ राष्ट्र की सुख सम्पति हेतु यज्ञ में आहुति डाली गई । समापन के दौरान यज्ञ की इस पुरातन विधि को लोगो ने सराहना भी की । विदित हो कि संजय अग्रवाल की सुपुत्री श्रेया अग्रवाल द्वारा कोतरा रोड में पिछले महीने 5 अप्रेल से 5 मई तक योग शिविर का आयोजन किया गया था । इसके बाद 5 मई से 20 मई तक बच्चो को प्रशिक्षण दिया गया । खेल खेल में योग सीखाने के दौरान बच्चो की छिपी हुई प्रतिभाओं को पहचानने का प्रयास किया गया । इस हेतु पेंटिंग,डांसिंग गायन कल्चर एक्टिविटी बच्चो में डेवलप की गई । समापन कार्यक्रम में यज्ञ के पश्चात छोटे बच्चों द्वारा नृत्य की प्रस्तुति की गई । विधि सुजाता रिधिमा पूजा मानसी अनवेशा द्वारा देशभक्ति गीत,प्रखर नेहा,पुण्य प्रसून,अर्पिता द्वारा आज भारत को जरूरत वीर जवानों की गीत प्रस्तुति योग प्रशिक्षक अनु पुष्पामहार,पुष्पा शर्मा,विद्या,सपना,अर्पणा,रोशन,कांता,जीतू यशोदा,सुशीला द्वारा योगा डेमोंस्ट्रेशन व कठिन आसनों की गीत की माध्यम से प्रस्तुति की गई । कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रायपुर कलेक्टर ओपी चौधरी की मातुश्री कौशल चौधरी,प्रोफेशर अरविंद पटेल एवं गायत्री परिवार से कृष्णा साहू समस्त मंचस्थ अतिथियों का शाल श्रीफल से सम्मान किया गया । अतिथियो ने बच्चो को प्रमाण पत्र वितरित किया । ओस दौरान अरविंद पटेल ने कहा कि संजय अग्रवाल के स्तुत्य प्रयासों से योग मंदिर की नींव रखी गई । उनकी सुपुत्री श्रेया अग्रवाल के साथ वे घर घर योग पहुंचाने हेतु प्रतिबद्ध है । इस हेतु उनकी योग कक्षाएं नियमित संचालित होती है । उनके कार्य सराहनीय है । योग का दीप घर घर जलाने इस परिवार का योगदान हमेशा याद किया जाएगा । संजय अग्रवाल के इस कार्य को राष्ट्र निर्माण हेतु बड़ा योगदान बताया । श्रेया अग्रवाल ने बच्चो के पालकों से अनुरोध किया कि बच्चो के अंदर छिपी हुई नैसर्गिक प्रतिभा को पहचाने । सारी शक्तियां शुसुप्त अवस्था मे होती है । योग के जरिये अंत:शक्तियों का जागरण होता है शरीर व मन की व्याधियां दूर होती है ।
सुगर वीपी कैंसर थाईराइड एलर्जी जैसी असाध्य बीमारियों बचा जा सकता है । योग मन नही लगने की बीमारी को दूर करता है इसके जरिये हम स्वस्थ रहना सिख जाते है । श्रेया अग्रवाल बताया कि पंद्रह दिनों के शिविर के दौरान बच्चो से माइंड फूल कलरिंग पानी की बचत स्वच्छता संदेश पर्यावरण की रक्षा का संदेश देने वाली चित्रकारी करवाई गई । बच्चो की क़ाबलियत की सराहना भी की । स्वयं को स्वस्थ रखना सबसे बड़ी चुनोति है । अपने बिगड़ते हुए स्वास्थ्य के लिए सरकार संविधान समाज पति पत्नी दोस्त किसी को भी जिम्मेदार नही ठहराया जा सकता । सभी नियमित योग करने का आग्रह किया । कार्यक्रम का सफल मंच संचालन छवि पटेल ने किया एवं फोटोग्राफी छायाकर कमल शर्मा के द्वारा की गई । इस ईश्वरीय कार्य हेतु नरेश पटेल का भी स्तुत्य योगदान है जिन्होंने इस कार्य हेतु नि:शुल्क जगह उपलब्ध कराई है ।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *