बाबा बैजनाथ धाम जाने 51 कांवरिया का जत्था हुआ रवाना

बाबा बैजनाथ धाम जाने 51 कांवरिया का जत्था हुआ रवाना

14 साल में ग्राम जैतपुरी के करीब 1000 लोगों ने बाबा धाम में  किए जल अभिषेक

भगवा रंग के वस्त्रों में और फूलों से सजी कांवर लेकर बोल बम का नारा लगाते हुए 151 किलोमीटर दूर पदयात्रा चल कर

बेमेतरा/नवागढ़/संबलपुर/ग्राम जैतपुरी से बाबा बैजनाथ जाने के लिए 51 कांवरिया का जत्था रवाना हुआ। बड़ी संख्या में कांवरिया का दल सावन महीने में बाबा बैजनाथ को जल अभिषेक करने के लिए बच्चे- बूढ़े व युवाओं का जत्था बाबा बैजनाथ धाम के लिए निकला ।बता दें कि ग्राम जैतपुरी  से श्री जैता राम यादव व घनाराम राजपूत इन दोनों के मार्गदर्शन से बाबा धाम जाने के लिए 14 साल में करीब 1000 लोगों ने बाबा धाम में जल अभिषेक किए हैं। घनाराम राजपूत ने बताया कि बाबा धाम जाने के लिए ग्राम जैतपुरी से भाटापारा रेलवे स्टेशन रेलगाड़ी में 800 किलोमीटर सफर करते हुए। सुल्तानगंज पहुंचेंगे उसके बाद सुल्तानगंज में पूजा अर्चना के बाद जल लेकर भगवा रंग के वस्त्रों में और फूलों से सजी कांवर लेकर बोल बम का नारा लगाते हुए 151 किलोमीटर दूर पदयात्रा चल कर बाबा बैजनाथ धाम पहुंचकर भगवान शिव का जल अभिषेक करेंगे।

कंधे से कांवर उतारने पर कान पकड़ कर उठक बैठक

कांवरिया लघु शंका जलपान या अन्य कार्यों के लिए कंधे से जब कांवर उतार कर रखते हैं।उसके बाद कांवर धारण करने से पहले भोलेनाथ को स्मरण करते हुए उठक -बैठक करते हैं। जिसके बाद ही कंधे में कांवर चढ़ाते हैं।

जगह-जगह सेवा के स्टाल

कांवरिया को दल का स्वागत करने के लिए सेवा भाव से कई सामाजिक संगठन धार्मिक प्रेमियों व ग्रामीणों ने जलपान वह भोजन भंडारे का वितरण किया सुल्तानगंज से लेकर कई स्थानों पर जलपान की व्यवस्था की गई थी ।

विभिन्न वेशभूषा धारण कर चल रहे कांवरिये

ग्राम जैतपुरी से अनिल राजपूत ने बताया की बाबा बैजनाथधाम में शामिल हुए कांवरियों के साथ भगवान भोलेशंकर का वेशभूषा धारण किया युवक भक्ति से सराबोर अपने दल का अगवाई करता कर रहा था वही भगवान शिव के साथी पिशाच की वेशभूषा में उनके भक्त साथ में नाचते थिरखते चल रहे थे। कांवरिया भक्तों के द्वारा अपनी कांवर को विशेष साज-सज्जा कर विभिन्न आकार दिया गया था।तो कई फूल मालाओं से ही त्रिशूल डमरू वाला सांप की आकृति लगाकर कांवर को आकर्षक ढंग से सजा कर चल रहे थे। कांवरिया की टोलियों में महिलाएं व युवतियां भी शामिल रही। कांवरियों में उत्साह था। बाबा धाम जाने वाले में अनिल कुमार, तूलेश्वर, पदूम राजपूत ,रामचरण राजपूत ,शिवप्रसाद, संजय राजपूत ,लोकेश्वर ,रामकिशन गोकर्ण ,सत्रोहन, पुरुषोत्तम राजपूत ,अजय कुमार ,भगवती, उमेश्वर दुबे ,नरेंद्र राजपूत समेत अनेक शिवभक्त शामिल है ।