भोपालपटनम सागौन के पेड़ों की कटाई बाद शासकीय पशुधन विकास विभाग की एंबुलेंस से डिप्टी डायरेक्टर अवैध परिवहन मामला फिर आया चर्चा में

पशुधन विकास विभाग के चलित चिकित्सा इकाई के शासकीय एम्बुलेंस सूमो वाहन से अवैध परिवहन करने का आरोप 

भोपालपटनम सागौन के पेड़ों की कटाई बाद शासकीय पशुधन विकास विभाग की एंबुलेंस से डिप्टी डायरेक्टर अवैध परिवहन मामला फिर आया चर्चा में

बीजापुर@रामचन्द्रम एरोला- जिले कि भोपालपटनम से रविवार शाम बीजापुर के पशु चिकित्सा विभाग के उप संचालक लालन सिंह शासकीय एम्बुलेंस सूमो वाहन क्रमांक सीजी 02-6384 में सागौन के 4 नग चिरान ले जाते हुए फारेस्ट जांच नाका के पास वाहन सहित लकड़ी को धर दबोचा। जानकारी अनुसार डिप्टी डायरेक्टर सरकारी वाहन में 4 नग सागौन चिरान लेकर तेज रफ्तार से बीजापुर की ओर गाड़ी दौड़ा रहे थे, तभी फारेस्ट विभाग को एक सूचना मिली सूचना पाते ही फारेस्ट विभाग के कर्मचारियों ने नाका के पास उक्त वाहन को रोक दिया वाहन की तलासी लेने पर गाड़ी में 4 नग सागौन के चिरान भरा हुआ था। फारेस्ट विभाग के कर्मचारियों ने गाड़ी को जप्त कर डिपो ले गए। यह रालापल्ली के जंगल से सागौन की चिरान लेकर गाड़ी निकली थी बताया जा रहा है। फारेस्ट विभाग के विशेष सूत्रों ने कर्मचारियों को सूचना दी।सागौन तस्करी अभी पेड़ों की कटाई मामले में चर्चित रहे भोपालपटनम क्षेत्र में एक और नया मामला सामने आया है। फारेस्ट तस्करी करने वालो पर कार्यवाही करते हुए अपनी पीठ थपथपा रहा है वही जिले के उच्च अधिकारी सागौन सरकारी वाहन में लंदकर ले जाते हुए दिखाई दे रहे है। सरकारी वाहन में ले जाते अधिकारी के हौसले इतने बुलंद थे कि सरकारी वाहन में दिनदहाड़े सागौन लेकर जा रहे थे वही गाड़ी भी खुद चला रहे थे। इस बार शासकीय एम्बुलेंस में लकड़ी परिवहन कर बचने की फिराक में था अधिकारी आखिरकार पूरी मंशा पर फिरा पानी । डिप्टी डायरेक्टर की गाड़ी को पकड़ने के बाद नगर में चर्चा हो रही है कभी तस्कर तो कभी अधिकारी जंगल के बेशकीमती सागौन के हरे भरे पेडो को उजाड़ रहे है क्षेत्र मेंं पंजीकृत दुकानों से खरीदना नहीं चाहते लकड़ी। जब जिम्मेदाार इस तरह कृत्य कर राजस्व को नुकसान कर रहे हैं । इन पर किस तरह गाज गिरेगी यह देखने वाली बात होगी पर जिलेे में एक तरफ तारीफ तो दूसरी तरफ वन विभाग की किरकिरी हो रहा है । जिले केे जिम्मेदारों पर सवालिया निशान खड़ा हो रहा है ।