मदिरा प्रेमियों से धोखा ! मिलावटी शराब का खेल फिर शुरू, शातिरों को कहां से मिली बोतलें, ढक्कन और स्टीकर, आबकारी विभाग में सांठगांठ की बू…

Cheating on wine lovers! The game of adulterated liquor started again where did the vicious ones get bottles lids and stickers the smell of nexus in the excise department

मदिरा प्रेमियों से धोखा ! मिलावटी शराब का खेल फिर शुरू, शातिरों को कहां से मिली बोतलें, ढक्कन और स्टीकर, आबकारी विभाग में सांठगांठ की बू…

(Cheating on wine lovers! The game of adulterated liquor started again, where did the vicious ones get bottles, lids and stickers, the smell of nexus in the excise department…)

अंबिकापुर। सरगुजा संभाग में एक बार फिर मिलावटी शराब का खेल शुरू हो गया है. मिलावटी शराब और नकली शराब का गोरख धंधा शराब दुकान के संचालकों के द्वारा ही चलाया जा रहा है. बड़े ताज्जुब की बात यह है कि आबकारी विभाग के आला अधिकारियों को इसकी भनक तक नहीं लगी. उनके नाक के नीचे लाखों रुपए के मिलावटी और नकली शराब बेचे जा रहे हैं.

ताजा मामला सरगुजा के बतौली शराब दुकान का है. जहां पर काम करने वाले 2 कर्मचारियों ने बड़े ही शातिरआना ढंग से रूम लेकर नकली शराब बनाना शरू किया. इतना ही नहीं नकली शराब को दुकान में बेचना प्रारंभ कर दिया. इस बात की सूचना जब मुखबीर ने आबकारी विभाग के उड़नदस्ता को दी, तो उनके होश उड़ गए.

उड़नदस्ता ने मौके पर दबिश दी. जहां से सैकड़ों की तादाद में शराब की बोतलें, हजारों ढक्कन, शराब की ब्रांडेड स्टीकर, कई लीटर नकली शराब जब्त किया गया है. उड़नदस्ता प्रभारी ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. दोनों को कोर्ट में पेश करने क बाद जेल भेज दिया गया है.

बहरहाल, सोचने वाली बात यह है कि जब आबकारी विभाग और उड़नदस्ता विभाग लगातार शराब दुकानों का निरीक्षण करती है, तब भी इस तरह की इतने बड़े स्तर पर मिलावट कैसे हो सकती है, जबकि अभी कुछ महीने पूर्व ही अंबिकापुर के गंगापुर शराब दुकान में भी मिलावटी शराब पकड़ी गई थी.

वहीं स्थानीय लोगों का यह आरोप है कि बिना किसी मिलीभगत के इस तरह से शराब दुकानों में मिलावट वह नकली शराब नहीं बेची जा सकती. फिलहाल आबकारी विभाग के द्वारा जांच पड़ताल कर दो आरोपियों को जेल भेज दिया गया है, लेकिन विभाग के बड़े अधिकारी और शराब दुकान संचालकों के बीच सांठगांठ कू बू आ रही है.