नागपुर को उप तहसील बनाने मुख्यमंत्री की घोषणा हुई साकार

सविप्रा उपाध्यक्ष गुलाब कमरो ने फीता काटकर किया कार्यालय का शुभारंभ

नागपुर को उप तहसील बनाने मुख्यमंत्री की घोषणा हुई साकार

कोरिया से भगवान दास की रिपोर्ट

कोरिया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा जिला प्रवास के दौरान बहरासी में आयोजित भेंट मुलाकात कार्यक्रम में ग्रामीणों की बहुप्रतीक्षित मांग को पूरा करते हुए विकासखंड मनेन्द्रगढ़ के नागपुर को उप तहसील बनाने की घोषणा की गई थी। आज घोषणा को साकार रूप देते हुए उप तहसील कार्यालय का शुभारंभ किया गया है। सरगुजा क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त भरतपुर सोनहत विधायक गुलाब कमरो द्वारा नागपुर उप तहसील कार्यालय का फीता काटकर उद्घाटन किया गया। नवीन उप तहसील में नायब तहसीलदार विभोर यादव की पदस्थापना की गई। इस दौरान कलेक्टर कुलदीप शर्मा, ओएसडी पीएस ध्रुव, तहसीलदार श्रीकांत पांडेय, जनपद उपाध्यक्ष राजेश साहू, स्थानीय जनप्रतिनिधि तथा अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम को शुरुआत में छतीसगढ़ महतारी के छायाचित्र में माल्यार्पण और पूजा-अर्चना की गई। इसके बाद उप तहसील कार्यालय का फीता काटकर शुभारंभ किया गया। मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त करते हुए विधायक कमरो ने क्षेत्र की जनता को शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा दी गई सौगात से राजस्व संबंधी मामलों के निराकरण के लिए ग्रामीणों को 20 किमी दूर मनेंद्रगढ़ तक नहीं जाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने बहरासी में भेंट मुलाकात कार्यक्रम में जो घोषणा की थी, वो आज एक महीने के भीतर ही पूर्ण हुई है। मुख्यमंत्री द्वारा प्रशासनिक विकेंद्रीकरण से राज्य में बेहतर प्रशासन स्थापित करने की मंशा का उल्लेखनकरते हुए इस अवसर पर कलेक्टर  ने बताया कि नागपुर के उप तहसील बनने से 18 ग्राम पंचायतों के 29 गांवों के लोगों को राजस्व मामलों के निराकरण की सुविधा मिलेगी। कलेक्टर नायब तहसीलदार को उपतहसील कार्यालय में उपस्थिति के दिन एवं समय लोगों की सुविधा हेतु चस्पा किए जाने के निर्देश दिए।

ग्रामवासियों ने कहा - इस क्षण का बेसब्री से था इंतजार

ग्राम हर्रा के मधुकांत दुबे ने बताया कि नागपुर उपतहसील बनने से यहां सभी बहुत खुश हैं, जिन राजस्व कार्यों के लिए पहले मनेन्द्रगढ़ तक जाना पड़ता था, वे अब यहीं हो जाएंगे। इसके लिए पूरे क्षेत्रवासियों की ओर से उन्होंने शासन-प्रशासन को धन्यवाद दिया। वहीं गुंजेश्वर यादव ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा दी गई सौगात का हम बेसब्री से इंतज़ार कर रहे थे और आज वो दिन आ गया जब नागपुर उप तहसील बन गया है, अब राजस्व प्रकरण के लिए दूर नहींजाना पड़ेगा।