सरकारी जमीन का बंदरबाट! निजी प्रापर्टी बता कर बेखौफ कर रहे बिक्री 

सरकारी जमीन का बंदरबाट! निजी प्रापर्टी बता कर बेखौफ कर रहे बिक्री 

कान्हा तिवारी, रतनपुर- कहते है सरकारी संपत्ती आप की अपनी संपत्ती है। इसकी बानगी देखने को मिल रही है रतनपुर में रिकार्ड में बड़े झाड़ का जंगल दर्ज होने के बाद बकायदा सरकारी जमीन की खरीद फरोख्त जारी है। जो व्यक्ति बेच रहा है वह बिलासपुर का एक रसुखदार है।        

नगरपालिका क्षेत्र में लगे सैकड़ों एकड़ शासकीय भूमि पर भूमाफियाओं की काली छाया पड़ गई । सैकड़ो एकड़ भूमि को अपनी पुस्तैनी भूमि बताकर बिलासपुर का एक रसूखदार स्थानीय दलालों के माध्यम से कई एकड़ भूमिक को अब तक बेच चुका है। यहां यह बताना लाजमी हो जाता है कि प्रदेश के राजस्वमंत्री का यह प्रभार को जिला है। बावजूद इसके यहां भू- माफिया काफी सक्रीय है। 

कहां है जमीन....क्या कहता है रेकार्ड..

रतनपुर नगरपालिका क्षेत्र के खसरा नम्बर 646/1 जो कि शासकीय अभिलेख में बड़े झाड़ का जंगल चिन्हांकित है, उसकी कुछ भूमाफ़ियाओं द्वारा बिक्री किये जाने की खबर मिली है,पटवारी राजस्व रिकार्ड के अनुसार 646/1 बड़े झाड़ का जंगल जिसका रकबा सौ एकड़ है,जिसे बिलासपुर का एक रसूखदार ब्यक्ति रतनपुर के एक जमीन दलाल के माध्यम से टुकड़ो में बिक्री कर रहा है,

टाउन एंड कंट्री प्लानिंग से नहीं है अप्रुड...

इस तरह तुकड़ो में काट कर जमीन को बेजा जा रहा है। ना तो टाउन कंट्री प्लानिक से नक्शा पास है ना ही नगर पालिका से एनओसी ली गई है। यह भी कहना गलत नहीं होगा कि इतनी बड़ी जमीन की ब्रिक्री खुले तौर पर हो रही है। जवाबदार का मौन समर्थन मिला हुआ है।

बेसकिमती है जमीन शासन को अरबो को लग रहा चुना...

 रतनपुर चपोरा मार्ग में शासकीय महामाया कालेज से महज सौ मीटर की दूरी पर मुख्य मार्ग में यह शासकीय भूमि लगा है। रतनपुर काफी तेजी से विकसीत हो रहा है। आने वाले समय में स्कूल कॉलेज से लेकर अन्य शासकीय भवनों का निर्माण इस भूमि पर किया जा सकता है। शासकीय रिकार्ड  में बड़े झाड़ का जंगल दर्ज है। बावजूद इसके इस तरह अवैध खरीद फरोख्त जारी है।अचरज की बात तो यह है कि जिन जनप्रतिनिधियों को शासन की भूमि की रक्षा करनी चाहिए. वहीं मौन साधे हुए है।

क्या कहते है तहसीलदार

इस मामले में रतनपुर के नवपदस्थ तहसीलदार प्रकाश साहू ने कहा कि शासकीय भूमि के खरीदी बिक्री की मौखिक शिकायत प्राप्त हुई है। पूरे मामले की जांच कराई जाएगी यदि आरोप सही पाए गये तो दोषियों पर कार्यवाई की जाएगी।