आई.टी. कैरियर में DCA/PGDCA के विद्यार्थियों को निःशुल्क कम्प्यूटर सिस्टम वितरण किया गया

आई.टी. कैरियर में DCA/PGDCA के विद्यार्थियों को निःशुल्क कम्प्यूटर सिस्टम वितरण किया गया

बेमेतरा :पिछले 12 वर्षों से संचालित नवागढ़ की एक पुरानी संस्था आई.टी. कैरियर कम्प्यूटर एजुकेशन नवागढ़ में एक नयी पहल की शुरुआत की गयी है, जिसके तहत संस्था के द्वारा डी.सी.ए./पी.जी.डी.सी.ए. में प्रवेश  लेने वाले विद्यार्थियों को घर पर कोर्स के प्रेक्टिकल करने हेतु, कोर्स पूर्ण होने तक निःशुल्क कम्प्यूटर सिस्टम दिया जा रहा है । संस्था प्रमुख अरुण देवांगन ने बताया कि इस योजना का प्रमुख उद्देश्य विद्यार्थियों को कम्प्यूटर एक्सपर्ट बनाना है, जिससे वो जल्द रोजगार प्राप्त कर सकें तथा अपने परिवार को आर्थिक सुदृढ़ता प्रदान कर सके । 15 अगस्त 2022 तक 50 विद्यार्थियों को निःशुल्क कम्प्यूटर सिस्टम वितरण करने का लक्ष्य रखा गया है, जिसकी आज पहली कड़ी में 10 विद्यार्थियों ने लाभ प्राप्त किया । संस्था में वर्कशॉप की अलग से व्यवस्था रखी गई है, जहां विद्यार्थी CSC सेंटर में किये जाने वाले कार्यों का अनुभव ले सकते है, तथा अपने गाँव वालों को विभिन्न ऑनलाईन सेवाएँ प्रदान कर सकते है ।

प्रायः सभी कम्प्यूटर प्रशिक्षण केंद्रों में विद्यार्थियों को लगभग दो घंटे ही प्रशिक्षण मिलता है, जिसमें एक घंटे तक ट्रेनर ट्रेनिंग देता है, अतः विद्यार्थियों को मात्र एक घंटे ही प्रैक्टिकल करने को मिलता है, जो कि पर्याप्त नहीं है, इस योजना के तहत विद्यार्थी वाई-फाई युक्त नया कम्प्यूटर, वारंटी के साथ अपने घर ले जाकर प्रेक्टिकल कर सकते है, विद्यार्थी इच्छानुसार ऑनलाईन एवं ऑफ़ लाईन दोनों तरीके से पढ़ाई कर सकते है । 

संस्था में अध्ययनरत पीजीडीसीए के छात्र रविन्द्र कुमार गर्ग ने कहा कि मैं सेंटर में ट्रेनिंग लेने के बाद घर जाकर अपनी छोटी बहन तथा अपने छोटे भाई को भी कंप्यूटर सिखाता हूँ, जबकि मुझे उनका फ़ीस देना नहीं पड़ता ।
संस्था में अध्ययनरत पीजीडीसीए की छात्रा कु. पम्मी ओझा ने बताया कि, उन्हें सेंटर आने-जाने में बहुत परेशानी होती है, रोज़ क्लास नहीं आ सकती इसलिए ऑनलाईन क्लास अटेंड करके अपना कोर्स पूरा करना चाहती है ।  
डी.सी.ए. की छात्रा कु. गायत्री यादव ने बताया कि सेंटर में विशेषज्ञ प्रशिक्षकों द्वारा हमें बहुत अच्छे से प्रशिक्षण दिया जाता है तथा आई.टी. कैरियर में हमें एक फ़ैमिली की तरह सहयोग एवं मार्गदर्शन मिलता है ।
वर्तमान में निःशुल्क कम्प्यूटर सिस्टम अपने घर ले जाने वाले दस विद्यार्थीगण आत्मा राम यादव, गोपीकिशन चौहान, पिकेश्वर साहू, जीवन लाल साहू, कांतेश साहू, धनेश्वर साहू, रविंद्र गर्ग, बसंत पात्रे, पम्मी ओझा तथा गायत्री यादव रहे ।