भारत की महिला टीम ने रचा इतिहास, लॉन बॉल्स में पहली बार जीता गोल्ड मेडल

India's women's team created history won gold medal for the first time in lawn balls

भारत की महिला टीम ने रचा इतिहास, लॉन बॉल्स में पहली बार जीता गोल्ड मेडल

(India's women's team created history, won gold medal for the first time in lawn balls)

लॉन बॉल्स के इवेंट में भारतीय महिला टीम ने इतिहास रच दिया है. भारत ने फाइनल इवेंट में साउथ अफ्रीका को बड़े अंतर से हराकर गोल्ड मेडल जीत लिया है. यह पहली बार है जब इस इवेंट में टीम इंडिया को कोई भी मेडल मिला हो.

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारतीय महिला टीम ने इतिहास रच दिया है. लॉन बॉल्स इवेंट के फाइनल मुकाबले में भारत ने साउथ अफ्रीका को मात दी और गोल्ड मेडल अपने नाम किया. 92 साल के इतिहास में यह पहली बार हुआ है जब भारत ने इस इवेंट में कोई मेडल जीता हो, वह भी अब सीधा गोल्ड मेडल हाथ लगा है. 

महिला टीम के इस इवेंट में टीम इंडिया में लवली चौबे, पिंकी, नयानमोनी साइकिया, रूपा रानी शामिल रहीं. जिन्होंने लगातार बेहतर प्रदर्शन किया और देश के लिए मेडल जीता. फाइनल मुकाबले में भारत ने साउथ अफ्रीका को 17-10 से मात दी है.

करीब ढाई घंटे चले इस रोमांचक मुकाबले में कई बार उतार-चढ़ाव आया, टीम इंडिया ने शुरुआत में बढ़त बनाई लेकिन उसके बाद साउथ अफ्रीका ने भी वापसी की. अंत में टीम इंडिया का शानदार खेल काम आया और भारत ने 17-10 से मुकाबला अपने नाम किया. कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत के मेडल की संख्या अब 10 हो गई है, इसमें 4 गोल्ड मेडल, 3 सिल्वर और 3 ही ब्रॉन्ज़ मेडल शामिल हैं.ऐसे आगे बढ़ा मैच

भारत ने इस मुकाबले में 1-0 से बढ़त बना ली थी, लेकिन बाद में साउथ अफ्रीका ने वापसी की और स्कोर 2-1 पहुंच गया. जैसे-जैसे मैच आगे बढ़ रहा है और भी दिलचस्प होता जा रहा है. टीम इंडिया ने अभी तक 4-2 से बढ़त बनाई हुई है. जैसे-जैसे राउंड आगे बढ़ते गए, टीम इंडिया की बढ़त भी मज़बूत हुई. भारत 7-2 के राउंड से आगे चल रहा है.

हालांकि जब आगे के एंड शुरू हुए तब टीम इंडिया कुछ लड़खड़ाई. साउथ अफ्रीका ने यहां लगातार प्वाइंट हासिल किए और मुकाबला 8-8 की बराबरी पर पहुंच गया है. 13 राउंड का गेम खत्म होने तक भारत और साउथ अफ्रीका के बीच कांटे का मुकाबला हुआ. और अंत में जाकर भारत ने 17-10 से मैच जीत लिया.सेमीफाइनल में भारत को मिली थी बड़ी जीत

भारतीय महिला टीम ने इस इवेंट के सेमीफाइनल मुकाबले में न्यूजीलैंड को 16-13 से मात दी थी. भारत की ओर से इतिहास रचने वालीं जो चार खिलाड़ी हैं, उनमें लवली चौबे, पिंकी, नयानमोनी साइकिया, रूपा रानी शामिल हैं.

बता दें कि कॉमनवेल्थ गेम्स में लॉन बॉल 1930 के शुरुआती सत्र से ही खेला जा रहा है और केवल एक बार 1966 के गेम्स में लॉन बॉल इन गेम्स का हिस्सा नहीं रहा.‌ लॉन बॉल में सबसे ज्यादा गोल्ड मेडल जीतने का रिकॉर्ड फिलहाल इंग्लैंड के नाम है. जिसने 21 गोल्ड मेडल जीते हैं. वहीं स्कॉटलैंड 20 गोल्ड के साथ दूसरे स्थान पर है. भारत की बात करें तो उसने कॉमनवेल्थ गेम्स में लॉन बॉल में कभी भी मेडल नहीं जीता था. लेकिन अब इतिहास में पहली बार भारत को इस खेल में मेडल मिलने जा रहा है.