12 जुलाई को पथरिया थाना का होना था घेराव, 11 जुलाई को आरोपियों को किया गया गिरफ्तार, अब भी दो आरोपी पुलिस गिरफ्त से बहार 

12 जुलाई को पथरिया थाना का होना था घेराव, 11 जुलाई को आरोपियों को किया गया गिरफ्तार, अब भी दो आरोपी पुलिस गिरफ्त से बहार 

मुंगेली जिला से हरजीत कुमार की रिपोर्ट

मुंगेली (पथरिया)-:  पथरिया अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत गंगा द्वारी निवासी योगेश कुमार राजपूत के द्वारा लगातार अपनी पत्नी लीलावती राजपूत को मानसिक और शारीरिक रूप से लगभग 2 सालों से प्रताड़ित करता आ रहा था. कभी दहेज की मांग को लेकर मारपीट की जाती थी और साथ में लीलावती राजपूत के साथ ससुर ,जेठ, देवर के द्वारा भी कई प्रकार के मारपीट गाली-गलौज शारीरिक, मानसिक रूप से प्रताड़ित एवं दहेज की मांग किया जाता आ रहा था , यह सारी बात अपने मायके में भी बताया करती थी. लीलावती राजपूत को उनके पति के द्वारा अपने ससुराल में बार-बार छोड़ दिया करते थे,  लीलावती राजपूत के साथ अत्याचार होने पर लीलावती राजपूत के द्वारा 19 /05/ 2022 को जहरीला पदार्थ खाकर के आत्महत्या करने की प्रयास कि गई. वही वर्मा हॉस्पिटल बिलासपुर में इलाज के दौरान 7/06/ 2022 को लीलावती राजपूत ने दम तोड़ दी, यह सारी घटना को लीलावती राजपूत के बड़े भैया दिनेश कुमार राजपूत के द्वारा छत्तीसगढ़ अनुसूचित जाति उत्थान संघ के प्रदेश अध्यक्ष राजकुमार सतनामी को बताया गया। राजकुमार सतनामी के द्वारा यह सारी बात सुनते ही तत्काल रुप से थाना में एफ आई आर कराया गया। एफ आई आर कराने के बाद 1 सप्ताह बीत गया. लेकिन आरोपियों के ऊपर कार्यवाही नहीं हो रही थी. तब राजकुमार सतनामी एवं प्रदेश उपाध्यक्ष शिव सतनामी उनकी टीम के द्वारा आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर पथरिया थाना घेराव के लिए 7 जुलाई 2022 को थाना पथरिया और अनुभवी अधिकारी राजस्व को सूचना दी गई। वही राजकुमार सतनामी के द्वारा कहा गया कि अगर 12 जुलाई तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होती है और उनको जेल नहीं भेजा जाएगा तो थाना पथरिया 12 जुलाई को हमारे पूरे संगठन के द्वारा घेराव की जाएगी। यह बात मुंगेली पुलिस अधीक्षक को मिलने पर मुंगेली पुलिस अधीक्षक चंद्रमोहन सिंह के निर्देश पर तीन आरोपियों के ऊपर अपराध क्रमांक 175/2022 धारा 304 के तहत न्यायिक रिमाण्ड पर जेल भेज दिया गया । वही अभी दो आरोपी फरार बताए जा रहे है. इस कार्यवाही में थाना प्रभारी सीएम मालाकर , सउनि . के पी जायसवाल , आरक्षक सूरज मंडावी , उमेश तेता , अनिता यादव , की भूमिका रही ।  वही राजकुमार सतनामी ने कहा मानव समाज में कहीं पर भी हो अगर किसी भी महिला एवं स्त्री के साथ अन्याय ,अत्याचार, शोषण होता है तब हमारी पूरी टीम संगठन महिलाओं के सम्मान में तत्पर खड़ी रहेगी ।अगर महिलाओं के सम्मान को अपमान में बदला जाएगा तब हम बर्दाश्त नहीं करेंगे यह कहा गया ।साथ में एफ आई आर के दौरान मृतिका के जेठ और उनके देवर के नाम में अपराध दर्ज था मगर अभी तक उनके गिरफ्तारी नहीं हो पाई है सतनामी ने कहा अगर दोनों आरोपियों को तत्काल रुप से गिरफ्तार नहीं की जाएगी ।तब हम सड़क में उतरने के लिए किसी भी प्रकार का कसर नहीं छोड़ेंगे।