Rupal Chaudhary ने रचा इतिहास, World U-20 Athletics में दो मेडल जीतने वाली पहली भारतीय बनीं

Rupal Chaudhary creates history becomes first Indian to win two medals in World U-20 Athletics

Rupal Chaudhary ने रचा इतिहास, World U-20 Athletics में दो मेडल जीतने वाली पहली भारतीय बनीं

(Rupal Chaudhary creates history, becomes first Indian to win two medals in World U-20 Athletics)

रूपल चौधरी ने वर्ल्ड अंडर-20 एथलेटिक्स में अलग-अलग स्पर्धाओं में दो मेडल अपने नाम किए हैं.
भारतीय जूनियर एथलीट रूपल चौधरी ने वर्ल्ड अंडर-20 एथलेटिक्स में इतिहास रच दिया है. वह वर्ल्ड अंडर-20 एथलेटिक्स के इतिहास में दो पदक जीतने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बन गई हैं. यहां उन्होंने महिलाओं की 400 मीटर दौड़ में ब्रॉन्ज और 4*400 मीटर रिले में सिल्वर मेडल जीता है.

गुरुवार रात को हुई 400 मीटर दौड़ में रूपल ने 51.85 सेकंड का वक्त निकालकर तीसरा स्थान हासिल किया. यहां ग्रेट ब्रिटेन की येमी मारी (51.50) ने गोल्ड जीता. इससे पहले मंगलवार को रूपल 4*400 मीटर रिले रेस में सिल्वर जीत चुकी थीं. यहां भारतीय टीम ने 3.17.76 मिनट के एशियन जूनियर रिकॉर्ड के साथ मेडल जीता. 

वर्ल्ड अंडर-20 एथलेटिक्स में अब तक आए हैं 9 भारतीय मेडल
वर्ल्ड अंडर-20 एथलेटिक्स में महिलाओं की 400 मीटर रेस में मेडल जीतने वाली रूपल दूसरी भारतीय खिलाड़ी हैं. उनसे पहले हिमा दास ने साल 2018 के एडिशन में गोल्ड जीता था. ओलंपिक चैंपियन नीरज चोपड़ा वर्ल्ड अंडर-20 एथलेटिक्स में गोल्ड जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी थे. इस टूर्नामेंट के इतिहास में अब तक भारतीय टीम को केवल 9 मेडल हासिल हुए हैं. बता दें कि पहले इस टूर्नामेंट को वर्ल्ड जूनियर चैंपियनशिप के नाम से जाना जाता था.

मेरठ से हैं रूपल
रूपल यूपी के मेरठ जिले की रहने वाली हैं. यहां के शाहपुर जैनपुर गांव में उनके पिता खेती करते हैं. रूपल अभी महज 17 वर्ष की हैं. वह जूनियर लेवल पर हुए राष्ट्रीय टूर्नामेंट्स में भी अपना परचम लहरा चुकी है. रूपल की हालिया सफलता के बाद केंद्रीय मंत्री किरण रिजीजू समेत कई बड़ी हस्तियां उन्हें सोशल मीडिया पर बधाई संदेश दे रही हैं.