शरत कमल, कॉमनवेल्थ में 10वां मेडल.. राहुल द्रविड़ के साथ ये स्पेशल कनेक्शन

Sharath Kamal 10th medal in Commonwealth this special connection with Rahul Dravid

शरत कमल, कॉमनवेल्थ में 10वां मेडल.. राहुल द्रविड़ के साथ ये स्पेशल कनेक्शन

(Sharath Kamal, 10th medal in Commonwealth .. this special connection with Rahul Dravid)

40 साल के टेबल टेनिस स्टार शरत कमल का यह आखिरी कॉमनवेल्थ गेम्स रहेगा. इसके बाद वह संन्यास की घोषणा कर सकते हैं. हाल ही में उन्होंने टोक्यो ओलंपिक से पहले कहा था कि वह रिटायरमेंट के बाद राहुल द्रविड़ और बैडमिंटन दिग्गज पुलेला गोपीचंद की तरह युवा खिलाड़ियों के लिए मेंटर बनना चाहते हैं.

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत का प्रदर्शन शानदार तरीके से चल रहा है. इंग्लैंड के बर्मिंघम में खेले जा रहे कॉमनवेल्थ गेम्स के पांचवें दिन तक भारत ने 5 गोल्ड समेत कुल 13 मेडल अपने नाम कर लिए. इसमें एक गोल्ड टेबल टेनिस से भी आया है. 

कॉमनवेल्थ गेम्स के पांचवें दिन टेबल टेनिस की भारतीय टीम ने भी गोल्ड पर कब्जा जमाया. यह सफलता टीम इवेंट में मिली, जिसके फाइनल मुकाबले में भारत ने सिंगापुर को 3-1 से मात दी. भारत की ओर से हरमीत देसाई और जी साथियान ने डबल्स मैच में जीत दर्ज कर भारत को शानदार शुरुआत दिलाई.

इस टीम इवेंट में दिग्गज प्लेयर अचंत शरत कमल भी थे. हालांकि वह अपना मैच नहीं जीत सके, लेकिन उनके साथ जो भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ का कनेक्शन है, लगता है उसी का जादू चला है. शरत और द्रविड़ के बीच एक स्पेशल कनेक्शन है. ऐसे में कह सकते हैं कि इसी कनेक्शन के चलते शायद भारत को यह मेडल मिला है.

शरथ-राहुल का 16 साल पुराना कनेक्शन

यह कनेक्शन 16 साल से चला आ रहा है. दरअसल, शरत कमल ने कॉमनवेल्थ में अपना पहला मेडल 2006 में जीता था. तब राहुल द्रविड़ भारतीय टीम के कप्तान थे और वेस्टइंडीज दौरे पर सीरीज खेल रहे थे. इसके 16 साल बाद राहुल द्रविड़ अब भारतीय क्रिकेट टीम के कोच बन गए हैं और एक बार फिर वेस्टइंडीज दौरे पर हैं. ऐसे में यह भी कनेक्शन ही कहा जा सकता है कि इसी दौरान ही शरत ने एक बार कॉमनवेल्थ में मेडल दिलाया है.

अपना मैच नहीं जीत सके शरत

हालांकि यह बात अलग है कि शरत इस टीम इवेंट के फाइनल में अपना मैच नहीं जीत सके हैं. सिंगापुर के च्यू झे यू क्लेरेंस ने अचंत शरत कमल को चार गेम तक चले मुकाबले में 11-7, 12-14, 11-3, 11-9 से मात दी. इसके साथ ही सिंगापुर ने मुकाबले में 1-1 की बराबरी कर ली है. क्लेरेंस के खिलाफ मैच में अचंत कमल ने खुद की सर्विस पर कुल 20 प्वाइंट्स गंवाए जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा.

40 साल के शरत कमल का यह आखिरी कॉमनवेल्थ गेम्स रहेगा. इसके बाद वह संन्यास की घोषणा कर सकते हैं. हाल ही में उन्होंने टोक्यो ओलंपिक से पहले कहा था कि वह रिटायरमेंट के बाद राहुल द्रविड़ और बैडमिंटन दिग्गज पुलेला गोपीचंद की तरह युवा खिलाड़ियों के लिए मेंटर बनना चाहते हैं.