कॉमनवेल्थ में मेडल जीतकर विकास ठाकुर ने सिद्धू मूसेवाला स्टाइल में मनाया जश्न

Vikas Thakur celebrates in Sidhu Moosewala style by winning medal in Commonwealth

कॉमनवेल्थ में मेडल जीतकर विकास ठाकुर ने सिद्धू मूसेवाला स्टाइल में मनाया जश्न

(Vikas Thakur celebrates in Sidhu Moosewala style by winning medal in Commonwealth)

कॉमनवेल्थ गेम्स के पांचवें दिन तक भारत ने कुल 5 गोल्ड समेत 13 मेडल जीत लिए. इसमें एक सिल्वर मेडल विकास ठाकुर का भी शामिल रहा. विकास ने पांचवें दिन पुरुषों के 96 किग्रा इवेंट में कुल 346 किग्रा भार उठाकर सिल्वर मेडल अपने नाम किया. मैच जीतने के साथ ही विकास ने तुरंत मूसेवाला के अंदाज में जश्न मनाया...

भारत के दिग्गज सिंगर रहे सिद्धू मूसेवाला का नाम कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 तक पहुंच गया है. यह गेम्स इस समय इंग्लैंड के बर्मिंघम में जारी हैं. टूर्नामेंट के पांचवें दिन वेटलिफ्टर विकास ठाकुर ने कमाल का प्रदर्शन करते हुए सिल्वर मेडल दिलाया.

इस जीत के बाद विकास ने मूसेवाला को श्रद्धांजलि देते हुए उनके ही अंदाज में थाई पर हाथ मारते हुए जश्न मनाया. विकास मूसेवाला के काफी बड़े फैन हैं. जब मूसेवाला की हत्या हुई थी. तब भी विकास ने दो दिन तक खाना नहीं खाया था.

दरअसल, कॉमनवेल्थ गेम्स के पांचवें दिन तक भारत ने कुल 5 गोल्ड समेत 13 मेडल जीत लिए. इसमें एक सिल्वर मेडल विकास ठाकुर का भी शामिल रहा. विकास ने पांचवें दिन पुरुषों के 96 किग्रा इवेंट में कुल 346 किग्रा भार उठाकर सिल्वर मेडल अपने नाम किया. मैच जीतने के साथ ही विकास ने तुरंत मूसेवाला के अंदाज में जश्न मनाया. इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है. 

मूसेवाला की हत्या के बाद दो दिन खाना नहीं खाया

विकास ठाकुर ने बताया था कि उन्होंने कॉमनवेल्थ गेम्स तक का सफर मूसेवाला के गाने सुनकर ही किया. उन्होंने मैच के बाद कहा, 'पंजाबी थप्पी सिद्धू मूसेवाला को श्रद्धांजलि थी. मैं उनसे कभी मिला नहीं, लेकिन उनके गीत हमेशा मेरे साथ रहेंगे और प्रेरणा देते रहेंगे. मैं हमेशा उनका बड़ा फैन रहा हूं. यहां आने तक मैंने उनके ही गाने सुने थे. उनकी हत्या के बाद मैंने दो दिन तक खाना नहीं खाया था.'

गोलियों से भून दिया था हमलावरों ने मूसेवाला को

बता दें कि सिद्धू मूसेवाला के फैन दुनियाभर में मौजूद हैं, जो उनके गानों के दीवाने हैं. मूसेवाला की हत्या इसी साल 29 मई को की गई थी. हत्या वाले दिन जब सिद्धू मूसेवाला अपनी थार से निकल रहे थे, उसी समय वहां कुछ लड़कों ने पहुंचकर उनके साथ सेल्फी ली. इन्हीं में से एक लड़के ने सिद्धू मूसेवाला की खबर हमलावरों को दी थी. इसके बाद आगे जाकर कुछ आरोपियों ने मूसेवाला की थार पर गोलियां बरसा दीं, जिसमें मूसेवाला की मौत हो गई थी.