आज रायगढ़ से सटे पुसौर क्षेत्र में स्थित छतीसगढ़ के सबसे लंबे पुल महानदी सेतू के लगभग एक किमी आगे व पीछे सड़क की बदहाली को देखते हुए जहाँ आये दिन आस पास से गुजरने वाले राहगीरों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है,इस सड़क में राहगीरों के लिए पग पग पर मौत के गढ्ढ़े बने हुए है तो वही बड़े बड़े गढ्ढो से आम राहगीर भी बड़े परेशान है व बड़ी दुर्घटना होने की भी संभावनाएं है, चूंकि गढ्ढ़े इतने बड़े बड़े है कि मानसून आने से कुछ दिनों की बरसात होने के बाद इस मार्ग पर सड़क किनारे भारी वाहनों के पहिये से दबकर बने हुए बड़े बड़े गढ्ढ़े में पानी भरा हुआ है जिससे चार पहिया वाहन व छोटे वाहनों पर सवार लोगो को अन्य बड़ी वाहनों को साइड देने में मसक्कत करना पड़ रहा है क्योंकि सड़क किनारे बने गढ्ढ़े में पानी भरे होने के कारण यह अंदाजा नही लगाया जा सकता कि वह गढ्ढा कितना गहरा है।

कुछ दूरी तक अच्छी सड़क वह अचानक सामने में सड़कों के बीचो बीच गड्ढे देखने के बाद खुद से संतुलन खोकर दुर्घटनाओं के शिकार हो रहे हैं,यह मार्ग रायगढ़ के विधायक का गृह ग्राम क्षेत्र होने के बावजूद यहां की जनता को इतनी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है जो कि दुःखद है इनके कार्यकाल को ढाई बरस होने के बावजूद यह सड़क दिन ब दिन बदत्तर होते जा रही है इसकी सुध लेने वाला कोई नही है क्षेत्र की जनता की परेशानी को देखते हुए आज भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बेशरम पौधा लगाकर चिर निद्रा में सोए जिला प्रशाशन एव सत्ता में बैठे नेताओ को जगाने का छोटा सा प्रयास किया है, जिसमें मुख्य रूप से पुसौर के मण्डल महामंत्री सुरेंद्र जेना,आईटी सेल के जिला संयोजक अंशु टुटेजा,झुग्गी झोपड़ी के जिला संयोजक दिलराज दिलीप सिंह,जूटमिल चक्रधरनगर के मण्डल उपाध्यक्ष जितेंद्र निषाद,अल्पसंख्यक मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष साहिल मनियार,रामजाने भारद्वाज,अल्पसंख्यक मोर्चा शहर मण्डल महामंत्री ज़फर मल्लिक,अल्पसंख्यक मोर्चा के जिला मीडिया प्रभारी तन्नू खान एवं आईटी सेल के जिला कार्यकारिणी सदस्य गौरव चौहान उपस्थित रहे।।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here