भाटापारा। छत्तीसगढ़ के बलौदाबाजार भाटापारा जिले में शादी का भरोसा दिलाकर एक नाबालिग लड़की का अपहरण कर कुकर्म करने के मामले में भाटापारा न्यायालय के विशेष न्यायाधीश ने दोष सिद्ध होने पर 20 साल की सजा सुनाई है। दोषी पर एक हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है। मिली जानकारी के अनुसार पीड़िता के परिजनों ने 18 मार्च 2019 को अपनी नाबालिग बच्ची की गुमशुदगी की रपट दर्ज कराई थी। पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए त्वरित जांच और पतासाजी कर मुंगेली जिले के जरहागांव से नाबालिग को बरामद किया तथा उसे अपहृत करके ले जाने वाले आरोपी को गिरफ्तार किया था। नाबालिग पीड़िता, उसके परिजनों के बयान तथा जांच में सामने आए तथ्यों के आधार पर आरोपी को अदालत में पेश करने के बाद मुकदमे की सुनवाई चली। सुनवाई के बाद विशेष न्यायाधीश सत्येन्द्र कुमार साहू ने आरोपी सूरज खाण्डेकर पर लगे आरोपों को सिद्ध पाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here