● जवानों से बोले पुलिस अधीक्षक अपने शौक (Hobby) के लिए समय निकालें …

● संवाद कर अपने आसपास के लोगों की मदद करें…..

● सेमिनार में जवानों को मनोचिकित्सकों ने स्ट्रेस दूर करने के दिए टिप्स…..

प्रदेश में पुलिस महानिदेशक छत्तीसगढ़ श्री डी.एम. अवस्थी के निर्देशन पर “स्पंदन अभियान” चलाया जा रह है । “स्पंदन अभियान” का मुख्य उद्देश्य जवानों को तनाव मुक्त रखने के लिए वरिष्ठ अधिकारीगण जवानों बीच जाकर उनसे संवाद करें, उनकी समस्याओं को सुने एवं उनका उचित निराकरण करायें । इसी क्रम में कुछ दिनों पहले जिला पुलिस रायगढ़ द्वारा पुलिस लाईन उर्दना में पुलिस अधिकारी/कर्मचारियों के लिए तीन दिवसीय योग शिविर का आयोजन किया गया था।

पुलिस अधीक्षक श्री संतोष कुमार सिंह द्वारा “स्पंदन अभियान” के तहत जवानों का मनोचिकित्सक से कॉउंसिलिंग के लिए आज दिनांक 26.06.2020को पुलिस लाईन में सेमिनार कराया गया । कार्यक्रम में शहर एवं देहात थानों से जवान उपस्थित हुये । जवानों के बीच फिजीकल डिस्टेंनस बना रहा इसे देखते हुए मनोचिकित्सक डॉ. अतीत राय द्वारा आर.आई. आफिस में एक-एक कर जवानों की कॉउंसिलिंग किया गया ।

सुबह जनरल परेड के बाद पुलिस लाईन प्रांगण में कार्यक्रम हुआ । कार्यक्रम के प्रारंभ में पुलिस अधीक्षक श्री संतोष कुमार सिंह द्वारा उपस्थित अधिकारी, कर्मचारियों को तनाव मुक्त रखने के कुछ महत्वपूर्ण बातें बताकर अपने निजी जीवन के अनुभव कार्यक्रम में साझा किए ।

उन्होंने कहा कि आज कोरोनाकाल में लोगों के तनाव दूर करने वाले समाजिक कार्यक्रम व मनोरंजन के स्थान बंद है । लोग घरों में और पुलिसकर्मी लगातार ड्यूटी कर कहीं न कहीं तनाव में है । उन्होंने बताया कि तनाव मुक्त रहने के लिए सबसे पहले हमें अपने शरीर को शरीरिक रूप से स्वास्थ्य रखना होगा । इसके लिए योगा, व्यायाम, सायकलिंग आदि बहुत से तरीके हैं, जितना हो अपने व्यवसायिक एवं निजी जीवन में व्यस्त रहें । अपने शौक (Hobby) चाहे वो खेलना, किताबें पढाना, फिल्में देखना कुछ भी हो उसके लिए समय निकाले जिससे स्ट्रेस कम किया जा सकता है । सबसे महत्वपूर्ण बात उनके द्वारा कहा गया कि हम सभी के सोशल प्लेटफार्म फेसबुक, ट्युटर व्हाट्सअप में बहुत से फ्रेण्डस हैं, अच्छी बात है पर अपने आसपास के लोगों को ख्याल रखना हमारी व्यक्तिगत जिम्मेदारी है, उनसे प्रतिदिन बातचीत करना, बहुत महत्वपूर्ण हैं । उन्होंने कहा कि अपने आसपास के लोगों से मिलें उनसे बातचीत करें अपनी समस्या/परेशानी उन्हें बताएं , उनकी कोई समस्या हो उसे पूछें , जिससे उसका हल निकाला जा सकें । तनाव हर उम्र के लोगों को हो सकता है, तनाव हिंसक रूप न लें इसलिए हमें मनोचिकित्सक से परामर्श लेनी चाहिए ।

सेमीनार में मनोचिकित्सक डॉ. अतीत राय एवं उनकी टीम द्वारा उपस्थित पुलिसकर्मियों से वर्तमान में ड्यूटी दौरान एवं व्यक्तिगत दिनचर्या में किन-किन बातों पर स्ट्रेस आता है, एक-एक कर पूछा गया और उन्हें परामर्श दिए । सेमीनार में एकल परामर्श की सुविधा आर.आई. आफिस में रखी गई थी, जहां शहर एवं देहात थानों से आये कर्मचारीगण द्वारा मनोचिकित्सक से परामर्श लिया गया । एडिशनल एसपी श्री अभिषेक वर्मा ने बताया कि मनोचिकित्सक डॉ. अतीत राय एवं उनकी टीम सब-डिवीजन के थानों में भी जाकर अपनी सेवाएं पुलिसकर्मियों एवं पुलिस परिवार के लोगों को देंगे तथा इनसे परामर्श हेतु शासकीय जिला अस्पताल रायगढ़ के मानसिक स्वास्थ्य इकाई ( जतन) में भी संपर्क कर सकते हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here